COMPASSIONATE APPOINTMENT IN CRPF

CRPF में अनुकम्पा के आधार पर भर्ती कैसे होते हैं। इस संबंध में संपूर्ण जानकारी इस ब्लॉग में लिखी गयी है। जब कोई CRPF में कार्यरत सरकारी कर्मचारी की मृत्यु हो जाती है या वह कहीं खो जाता है या मेडीकल बोर्ड द्वारा पागल या अनफिट घोषित कर दिया जाता है तो ऐसे मामले में उसके आश्रित को करुणामूलक आधार पर केन्द्रीय  रिजर्व पुुलिस बल में भर्ती किया जाता है। इसे हम अंग्रेजी में COMPASSIONATE APPOINTMENT IN CRPF बोलते हैं। CRPF में करुणामूलक या अनुकंपा के आधार पर भर्ती होना डायरेक्ट भर्ती होने से कहीं ज्यादा मुश्किल है। CRPF में डायरेक्ट भर्ती होना बहुत ही आसान है उसमें केवल आपको अपनी पढ़ाई की अच्छी तैयारी करनी होती है लेकिन करुणामूलक आधार पर पर भर्ती होने के लिय दुनिया भर के कागजात तैयार करवाने पड़ते हैं जिसके लिये आपको कहीं तहसील में जाना होगा कहीं किसी सरकारी कार्यालय में प्रमाण पत्र बनावाने जाना होगा, आदमी इतना परेशान हो जाता है कि उसका भर्ती होने का मन ही नहीं करता । यह भी पढ़े CRPF PAY SLIP । इतने सारे दस्तावेज दे दिये जाते हैं बनवाने के लिये तब जाकर आपको भर्ती होने के लिये बुलाया जाता है। फिलहाल CRPF में अनुकंपा के आधार पर किन किन दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है उसकी सारी डिटेल्स मैंने नीचे दी है। Compassionate Appointment in CRPF आप तभी भर्ती के एप्लाई कर सकते हैं जब सरकारी कर्मचारी ने खुद आत्महत्या कर ली हो या मुठभेड़ में शहीद हो गये हों या किसी सरकारी कार्यवाई के दौरान उनकी मृत्यु हो गयी हो या कहीं खो गये हों या मेंटली डिस्टर्बड हों जैसे पागलपन, दौरा पड़ना आदि की वजह से सरकार ने मेडीकली अनफिट घोषित कर दिया हो। ऐसे मामलों में आप करुणामूलक आधार पर भर्ती देखने के योग्य होंगे।

COMPASSIONATE APPOINTMENT IN CRPF

Vacancy for Compassionate Appointment in CRPF

सबसे बड़ी बात है कि आखिर कैसे पता चलेगा कि कितनी वैकेंसी है Compassionate Appointment in CRPF के आधार पर भर्ती होने के लिेये क्योंकि हमें पता ही नहीं चल पाता है कि कब इसकी वैकेंसी निकलती है और कितनी निकलती है। क्या इसकी वैकेंसी डायरेक्ट भर्ती वालों के साथ निकलती है इन सब प्रश्नों का अगर आपको जबाव मिल जाये तो आपका बहुत बड़ा सवाल का उत्तर मिल जायेगा। दोस्तों Compassionate Appointment in CRPF की वैकेंसी महानिदेशालय द्वारा निकाली जाती हैं और ये वैकेंसी डायरेक्ट भर्ती की 5 प्रतिशत रिजर्व होती हैं यानिकि इन भर्ती को डायरेक्ट भर्ती के साथ मिक्स नहीं किया जा सकता है। कितनी वैकेंसी आयी है यह बात आपको सरकारी कर्मचारी की बटालियन/कार्यालय से पता चलेगी , आपको वहां जाकर पता करना होगा कि अभी कितनी वैकेंसी है लेकिन वैकेंसी पता करने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप एक एप्लीकेशन लिख दो उस बटालियन के नाम पर जिस बटालियन में सरकारी कर्मचारी पोस्टेड था उसमें आपको लिखना होगा कि मैं करुणामूलक आधार पर भर्ती होना चाहता हूं और उसका एक फार्म होता है जो मैंने इसी पोस्ट में नीचे दिया हुआ है वहां से जाकर आप उस फार्म को डाउनलोड कर सकते हैं उसी फार्म को भरकर आप अपनी बटालियन या कार्यालय में भेज दीजिए वहां से आपको बता दिया जायेगा कि अभी कितनी वैकेंसी है अगर वहां पर वैकेंसी होगी तो आपको बुलाया जायेगा और दस्तावेजों की मांग की जायेगी। आपको समय दिया जायेगा उन दस्तावेजों को तैयार करने के लिये जब आप दसतावेजों को तैयार कर लेेंगे तो फिर उसे  उसी बटालियन में भेज दीजिए फिर आपके दस्तावेज चैक होंगे और आपकी भर्ती संबंधी अग्रिम कार्यवाई की जायेगी। Vacancy for Compassionate Appointment in CRPF मैन बेवसाइट पर प्रदर्शित नहीं की जाती हैं। ये वैकेंसी इंटरनल होती हैं जो कि केवल कार्यालय को जानकारी के लिये जाती हैं इन वैकेंसी को सी.आर.पी.एफ की मैन बेबसाइट पर नहीं डाला जाता है। इसमें Ministerial Staff में बहुत ही कम वैकेंसी आती हैं एवं Constable/GD की वैकेंसी ज्यादा रहती हैं।

Documents required for Compassionate Appointment in CRPF

दोस्तों CRPF में करुणामूलक आधार पर भर्ती होने के लिये काफी सारे दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ती है। इन दस्तावेजों की सूची निम्न प्रकार है-

सेवा के दौरान हुई मृत्यु (इसमें आत्महत्या) कार्रवाई के दौरान हुई मृत्यु/खोना/चिकित्सीय रुप से बोर्ड से आउट करना शामिल है तो मृतक के आश्रित (परिवार के सदस्य) को करुणामूलक आधार पर भर्ती होने के लिये आवश्यक दस्तावेज/Documents

  1. करुणामूलक आधार पर भर्ती होने के लिये केवल वही उम्मीदवार योग्य होंगे जो कि सरकारी कर्मचारी की मृत्यु के समय पूर्ण रूप से उसी पर आश्रित थे।
  2. उम्मीदवार निर्धारित पपत्र में आवेदन पत्र दोहरी प्रतियों में भरकर संबंधित बटालियन/कार्यालय में दावा प्रस्तुत करें
  3. उम्मीदवार CRPF में जिस पद पर भर्ती होने के इच्छुक हो, से संबंधित लिखित रूप में आवेदन करें।
  4. मृत सरकारी कर्मचारी के परिवार की देख-रेख के संबंध में, केरिपुबल में भर्ती के बाद एक स्टैम्प पेपर पर एक वचन पत्र दोहरी प्रति मे देना है।
  5. निर्धारित प्रपत्र में संबंधित सक्षम प्राधिकारी द्वारा जारी जाति प्रमाण पत्र।
  6. वर्तमान में खींचे गये फोटो की 06 प्रतियां (पासपोर्ट साइज) जिस पर पीछे की ओर उम्मीदवार के हस्ताक्षर हो।
  7. राजपत्रित अधिकारी के द्वारा प्रमाणित/हस्ताक्षरित, शैक्षिक प्रमाण पत्र दोहरी प्रतियों में।
  8. उम्मीदवार की जन्मतिथि की प्रमाणिकता से संबंधित प्रमाण पत्र
  9. निवास प्रमाण पत्र की दो प्रतियां जो सक्षम प्राधिकारी/तहसीलदार द्वारा जारी की गयी हो।
  10. तहसीलदार द्वारा चल/अचल सम्पत्ति के विवरण के संबंध में दोहरी प्रतियों में जारी प्रमाण पत्र
  11. आवेदक के आश्रित होने के संबंध में सरकारी कर्मचारी की मृत्यु/इन्वेलीडेशन/खोने से संबंधी सक्षम प्राधिकारी (रिवेन्यू अधिकारी) के द्वारा जारी प्रमाण-पत्र दोहरी प्रतियों में।
  12. चरित्र प्रमाण पत्र की दो प्रतियां।
  13. मृत्यु प्रमाण पत्र/इन्वेलीडेशन आदेश/खोने से संबंधित विवरण से संबंधित प्रमाण पत्र दोहरी प्रतियों में जो राजपत्रित अधिकारी द्वारा प्रमाणित हो।
  14. अदालती जांच संबंधी अंतिम आदेश या संबंधित बटालियन/कार्यालय द्वारा आपको भेजा गया अर्धशासकीय पत्र की प्रति (यदि हो) तो उसे भी साथ में संलग्न करें।
  15. परिवार के समस्त सदस्यों द्वारा एफिडेविट कि प्रार्थी के भर्ती होने में उनको कोई आपत्ति नहीं है, संलग्न करें।
  16. कर्मचारी की मृत्यु के बाद सरकार द्वारा कितनी आपको धनराशि दी गयी है, जितनी भी धनराशि,जमीन या कुछ भी सरकार की तरफ से आपको दिया गया है, उसका विवरण फार्म में जरूर अंकित करें।
  17. अविवाहित सरकारी कर्मचारी के बहिन/भाई परिवार के सदस्य जो उसकी मृत्यु के समय पूर्ण रूप से उसी पर आश्रित थे, के मामले में वे करुणामूलक आधार पर नियुक्ति के पात्र होंगे।
  18. आवेदक की वैवाहिक स्थिति संबंधी प्रमाण पत्र की दो प्रतियां जो सक्षम प्राधिकारी /तहसीलदार द्वारा जारी की गयी हो।

Brief details about filling Form for Compassionate Appointment in  CRPF

CRPF में करुणामूलक आधार पर भर्ती होने के लिये आवेदन फॉर्म को कैसे भरा जाता है उसी के बारे में संक्षिप्त में  विवरण निम्न प्रकार है-

  • COMPASSIONATE APPOINTMENT IN CRPF में करुणामूलक आधार पर भर्ती होने के लिये केवल वही उम्मीदवार योग्य होंगे जो कि सरकारी कर्मचारी की मृत्यु के समय पूर्ण रूप से उसी पर आश्रित थे। इसका मतलब यह है कि सरकारी कर्मचारी का पुत्र या पुत्री या पत्नी या माता या पिता या भाई, जो भी सरकारी कर्मचारी पर डिपेंड था मतलब की सरकारी कर्मचारी के पैसे से उसका जीवन यापन होता था, मात्र वही करुणामूलक आधार पर भर्ती हो सकता है। अब बात आती है माता पिता की, माता पिता की उम्र ज्यादा होने के कारण वह तो नौकरी नहीं कर सकते हैं। अब बात आती है भाई की, यदि सरकारी कर्मचारी नयी उम्र का था और उसका भाई उसकी जगह पर नौकरी लेना चाहता है तो उसकाे पहले यह प्रमाण पत्र देना होगा कि वह अपने भाई पर पूरी तरह डिपेंड था उसी के पैसे से उसका जीवन यापन चलता था लेकिन ऐसा बहुत कम ही केस में होता है, क्योंकि ज्यादातर सभी के भाई खुद पर डिपेंड हो जाते हैं और खुद ही कमाने लगते हैं और अपना जीवन यापन खुद के पैसे से करते हैं। अब बारी आती है पुत्र या पुत्रियों या पत्नी की, सही मायने में देखा जाये तो यही तीनों नौकरी पाने के अधिकतम दावेदार होते हैं क्योंकि यह वह लोग होते हैं जो कि सरकारी कर्मचारी पर पूरी तरह से डिपेंड होते हैं, इसलिये इनको नौकरी देने में प्राथमिकती दी जाती है।
  • उम्मीदवार निर्धारित पपत्र में आवेदन पत्र दोहरी प्रतियों में भरकर संबंधित बटालियन/कार्यालय में दावा प्रस्तुत करें। आप अपना आवदेन पत्र भरकर उसी बटालियन या कार्यालय में भेजें जिस बटालियन में सरकारी कर्मचारी पोस्टेड था , आप उस जगह आवेदन पत्र न भेजें जहां उनकी मृत्यु हुई।
  • उम्मीदवार COMPASSIONATE APPOINTMENT IN CRPF में जिस पद पर भर्ती होने के इच्छुक हो, से संबंधित लिखित रूप में आवेदन करें। आप जिस पद पर भर्ती होना चाहते हैं उसे आवेदन पत्र में लिखना होता है। यदि आप CRPF Head Constable Ministerial के पद पर भर्ती होना चाहते हैं तो इसको आपको अपने आवेदन पत्र में दर्शाना होगा।
  • COMPASSIONATE APPOINTMENT IN CRPF मृत सरकारी कर्मचारी के परिवार की देख-रेख के संबंध में, केरिपुबल में भर्ती के बाद एक स्टैम्प पेपर पर एक वचन पत्र दोहरी प्रति मे देना है। आपको एक वचन बद्धता प्रमाण पत्र स्वंय लिख कर देना होगा जिसमें आपको लिखना होगा कि सरकारी कर्मचारी की मृत्यु के बाद उनके परिवार की देख रेख करने वाला घर में कोई नहीं है उनकी देखरेख की जिम्मेदारी अब आपके कंधों पर आ चुकी है, और तुम्हारे पास कोई रोजगार भी नहीं है, इसलिये आपको करुणामूलक आधार पर भर्ती करने की कृपा की जाये। ऐसा आपको एक स्टांप पेपर लिखवाना होता है।
  • निर्धारित प्रपत्र में संबंधित सक्षम प्राधिकारी द्वारा जारी जाति प्रमाण पत्र। आपका जाति प्रमाण पत्र मांगा जायेगा इसके बारे में तो आप जानते ही होंगे अगर नहीं जानते हैं तो बता देता हूं कि इसमें आपका भारत सरकार का जाति प्रमाण पत्र मांगा जायेगा कि तहसीलदार ही जारी करता है। जाति प्रमाण पत्र दो प्रकार से बनते हैं एक तो राज्य सरकार द्वारा बनता है और दूसरा केंद्र सरकार द्वारा बनता है, तो आपको केंद्र सरकार वाला ही बनवाना है।
  • वर्तमान में खींचे गये फोटो की 06 प्रतियां (पासपोर्ट साइज) जिस पर पीछे की ओर उम्मीदवार के हस्ताक्षर हो। अपनी खुद की 06 फोटो भी साथ मे संलग्न कर देना।
  • राजपत्रित अधिकारी के द्वारा प्रमाणित/हस्ताक्षरित, शैक्षिक प्रमाण पत्र दोहरी प्रतियों में। हाइस्कूल, इंटरमीडिएट (10, 12) की मार्कशीट एवं प्रमाण पत्र की फोटो कॉपी किसी राजपत्रित अधिकारी से प्रमाणति करवाकर फाॉर्म के साथ संलग्न करके भेजना होता है। ध्यान दें ओरिजनल नहीं भेजना है ओरिजनल तभी भेजना है जब संबंधित कार्यालय द्वारा मांगा जाये, और मेरी मानें तो आप अपने शिक्षा संबंधी प्रमाण पत्रों को हाथों-हाथ लेकर जायें और उनको दिखायें कार्य समाप्त होने के बाद अपने प्रमाण पत्र वापस ले लें।
  • उम्मीदवार की जन्मतिथि की प्रमाणिकता से संबंधित प्रमाण पत्र। जन्मतिथि की प्रमाणिकता का प्रमाण पत्र होता है हाइस्कूल की मार्कशीट एवं प्रमाण पत्र जिस पर आपकी जन्मतिथि अंकित रहती है।
  • निवास प्रमाण पत्र की दो प्रतियां जो सक्षम प्राधिकारी/तहसीलदार द्वारा जारी की गयी हो। निवास प्रमाण पत्र को हम Residential Certificate या मूल निवास भी कहते हैं ये तीनों वर्ड एक ही हैं।
  • तहसीलदार द्वारा चल/अचल सम्पत्ति के विवरण के संबंध में दोहरी प्रतियों में जारी प्रमाण पत्र। चल/अचल संपत्ति से मतलब है कि आपके पास कितनी जमीन है, कितनी गाडि़यां हैं, कितने घर हैं आदि ये सब विवरण फॉर्म में भरना होता है और सब कुछ सही सही भरना होता है ऐसा नहीं कि आप कुछ छुपायें क्योंकि बाद में जब वेरीफकेशन होता है तब दिक्कत आती है।
  • आवेदक के आश्रित होने के संबंध में सरकारी कर्मचारी की मृत्यु/इन्वेलीडेशन/खोने से संबंधी सक्षम प्राधिकारी (रिवेन्यू अधिकारी) के द्वारा जारी प्रमाण-पत्र दोहरी प्रतियों में। एक प्रमाण पत्र और आपको बनवाना होगा जिसमें लिखा होगा कि आप पूरी तरह से सरकारी कर्मचारी पर निर्भर थे अब उनकी मृत्यु के बाद आपके जीवन यापन करने का कोई तरीका नहीं है इसलिये कृपया करुणामूलक आधार पर आपको रोजगार दिया जाये।
  • चरित्र प्रमाण पत्र की दो प्रतियां। चरित्र प्रमाण पत्र पुलिस द्वारा बनवाया जाता है। आप अपने नजदीकी थाने से चरित्र प्रमाण पत्र बनावाने संबंधी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं क्योंकि पुलिस चरित्र प्रमाण पत्र इसलिये बनाती है कि कहीं आपके ऊपर कोई केस तो नहीं है, या मुकदमा तो दर्ज नहीं है जैसे कहीं लड़ाई झगड़ा कर लिया हो आदि।
  • मृत्यु प्रमाण पत्र/इन्वेलीडेशन आदेश/खोने से संबंधित विवरण से संबंधित प्रमाण पत्र दोहरी प्रतियों में जो राजपत्रित अधिकारी द्वारा प्रमाणित हो। आपको सरकारी कर्मचारी का मृत्यु प्रमाण पत्र Death Certificate भी बनवाना होगा और उसे फॉर्म के साथ संलग्न करके भेजना होगा।
  • COMPASSIONATE APPOINTMENT IN CRPF में अदालती जांच संबंधी अंतिम आदेश या संबंधित बटालियन/कार्यालय द्वारा आपको भेजा गया अर्धशासकीय पत्र की प्रति (यदि हो) तो उसे भी साथ में संलग्न करें। अदालती जांच के बारे में आपको शायद पता नहीं होगा। जब सरकारी कर्मचारी की मृत्यु होती है तो विभाग द्वारा एक अदालती जांच करवायी जाती है जिसका मुख्य उद्देश्य यह पता करना होता है कि आखिरकार किन कारणों से सरकारी कर्मचारी की मृत्यु हुई  या उसकी मृत्यु के लिये कोई व्यक्ति विशेष जिम्मेदा है या नहीं। मृत्यु के कारणों का पता लगाने के लिये ही अदालती जांच करवायी जाती है जिसका बाद में एक अंतिम आदेश आता है वह आदेश यदि आपके घर पर विभाग को कोई अधिकारी या जवान देने आया हो या फिर मृत्यु के बाद कार्यालय अध्यक्ष की तरफ से एक अर्धशासकीय पत्र सरकारी कर्मचारी के घर पर भेजा जाता है जिसमें लिखा होता है कि सरकारी कर्मचारी बहुत ही मेहनती कार्मिक था उसकी कमी बटालियन को हमेशा महसूस होगी ऐसा कोई पत्र यदि विभाग द्वारा आया हो तो उसकी प्रति भी फॉर्म के साथ संलग्न करें।
  • परिवार के समस्त सदस्यों द्वारा एफिडेविट कि प्रार्थी के भर्ती होने में उनको कोई आपत्ति नहीं है, संलग्न करें। यह एफिडेबिट इसलिये मांगा जाता है क्योंकि बहुत से लोगों के माता पिता या परिवार के सदस्य यह सोचते हैं कि उन्होंने अपना एक बेटा तो खो दिया है अब दूसरा नहीं खोना चाहते इसिलये यह एफिडेबिट मांगा जाता है कि आपको फोर्स में भर्ती होने से आपके परिवार वालों को कोई आपत्ति नहीं है। यह एफिडेबिट परिवार के सभी सदस्यों से अलग अलग लिखवाना होता है जिस पर उनके हस्ताक्षर भी होते हैं।
  • कर्मचारी की मृत्यु के बाद सरकार द्वारा कितनी आपको धनराशि दी गयी है, जितनी भी धनराशि,जमीन या कुछ भी सरकार की तरफ से आपको दिया गया है, उसका विवरण फार्म में जरूर अंकित करें। जब सरकारी कर्मचारी की मृत्यु हो जाती है तो सरकार द्वारा जो धनराशि या जमीन दी जाती है उसका पूरा विवरण आपको अावेदन फार्म में अंकित करना जरूरी होता है। उसमें आपको यह भी लिखना होता है कि आपको अभी तक कितना रुपया सरकार द्वारा प्राप्त हो चुका है और कितना बाकी है। आपके माता पिता को कितना रुपया मिला या आपको कितना रुपया मिला वह सारी डिटेल्स आफको फॉर्म में भरनी होती है।
  • अविवाहित सरकारी कर्मचारी के बहिन/भाई परिवार के सदस्य जो उसकी मृत्यु के समय पूर्ण रूप से उसी पर आश्रित थे, के मामले में वे करुणामूलक आधार पर नियुक्ति के पात्र होंगे। यदि सरकारी कर्मचारी की शादी नहीं हुई हो और उसकी मृत्यु हो गयी हो और उसके भाई या बहिन उसी पर निर्भर हो तो वह लोग भी करुणामूलक आधार पर भर्ती हो सकते हैं।
  • आवेदक की वैवाहिक स्थिति संबंधी प्रमाण पत्र की दो प्रतियां जो सक्षम प्राधिकारी /तहसीलदार द्वारा जारी की गयी हो। एक प्रमाण पत्र आपके विवाह से संबंधित भी बनवाना होगा जिसमें साफ साफ लिखा होना चाहिए कि आपकी एक ही जीवित पत्नी है और कितने बच्चें हैं।

यह सभी कागजात तैयार करने के उपरान्त आपको फार्म को भरकर उसी बटालियन या कार्यालय में भेजना होता है जिसमें सरकारी कर्मचारी पोस्टेड था। आपके भर्ती संबंधी मामले को सभी संबंधित कागजातों सहित वह बटालियन  या कार्यालय अपने उच्च कार्यालय में भेजेगी जिसे सेक्टर कार्यालय कहते हैं जहां लगभग 10-15 दिन लग जाते हैं उसके बाद वह सेक्टर कार्यालय अपने उच्च कार्यालय महानिदेशालय नई  दिल्ली को भेजेगा, फिर वहां पर आपके कागजात चैक करने के बाद निर्णय लिया जाता है कि आपको नौकरी दी जाये या नहीं। यदि आपके कागजात सही हैं तो आपको Physical Test, Written Test, Skill Test, Medical Test के लिये एक ग्रुप केन्द्र में बुलाया जायेगा। यह ग्रुप केन्द्र वही होगा जिसमें सरकारी कर्मचारी की सेवा पुस्तिका या संबंधित कागजता रहे होंगे। इस काम में लगभग 3-4 महीने लग जाते हैं। कागजातों के पास होने पर आपको ग्रुप केंद्र में बुलाया जायेगा वहां पर आपके सारे टेस्ट होंगे यदि आप किसी टेस्ट में फेल हो जाते हैं तो आपको वहीं पर अनफिट घोषित कर दिया जायेगा औऱ आप नौकरी के योग्य नहीं होंगे। लेकिन अधिकारी काफी सोच समझने के बाद ही निर्णय लेते हैं  और यदि आपमें थोड़ी छोटी मोटी कमी है तो उसको अधिकारी इग्नोर कर आपको भर्ती होने का मौका देते हैं।

Download form for Compassionate Appointment in CRPF

COMPASSIONATE APPOINTMENT IN CRPF में करुणामूलक आधार पर भर्ती होने के लिये एक फॉर्म भरकर संबंधित बटालियन या कार्यालय को भेजना होता है। इस फॉर्म को आप नीचे दिये गये लिंक पर क्लिक करके उसे डाउनलोड कर सकते हैं

Form for Compassionate Appointment in CRPF

दोस्तों यदि आपको मेेरे द्वारा दी  गयी जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया कमेंट कर के हमें बताइये और अपने सुझाव दीजिये औऱ यदि आप कुछ पूंछना चाहते हैं तो पूंछियें हम आपका जवाव दरूर देने की कोशिश करेंंगे।

यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें हमारी Id है: techzinkk@gmail.com पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे।

जय हिंद।

Please follow and like us:
300 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *