my mother essay in hindi
my mother essay in hindi

my mother essay in hindi : मां एक ऐसा शब्द है जिसकी तुलना पूरी दुनिया में किसी से नहीं की जा सकती है। क्योंकि यदि मां न होती तो इस दुनिया में न हम होते और न ही आप। भगवान ने एक ऐसा इंसान बनाया जिसमें अनेक शक्तियों का भण्डार है जिसको हम मां के नाम से जानते हैं। अपनी अपनी मां से आप सभी लोग प्यार करते हैं । घर में अगर मां न दिखाई दे तो घर का आंगन सूना-सूना रहता है। आज के इस पोस्ट में हम आपको My mother essay in Hindi के बारे में बताने जा रहे हैं।

Essay on my mother in Hindi

मां बच्चों की सबसे पहली गुरू होती है। बच्चा जब पैदा होता है तब उसके मुंह से सबसे पहले मां शब्द ही निकलता है। इससे हम अंदाजा लगा सकते हैं कि भगवान ने मां को क्या शक्तियां प्रदान की हैं। मेरी मां इस दुनियां में सबसे अच्छी मां है जिसे हम प्यार से मम्मी बुलाते हैं। मेरी मां पूरे घर में सबसे पहले उठती हैं और सबसे बाद में सोती हैं। मेरे पूरे घर का काम मेरी मां ही करती हैं। मेरी मां ने मुझे जन्म दिया है और मैं उन्हें बहुत प्यार करता हूं। मेरी मां ने मेरे लिये बहुत कष्ट सहे हैं। मेरी दादी मुझे बताती है कि जब मैं छोटा था तब मेरी मां और पापा बहुत गरीब थे।

Also read : CRPF कब किसी का एनकाउंटर कर सकती है ?

उन्होंने बहुत मेहनत करके हमें पढ़ाया लिखाया। उन्होंने मुझे कभी इस बात का पता नहीं चलने दिया कि हम लोग पहले कितने गरीब थे। मम्मी पापा ने कड़ी मेहनत के बाद हमें इस मुकाम तक पहुंचाया है। आज मैं सरकारी नौकरी करता हूं सिर्फ और सिर्फ अपनी मम्मी और पापा की वजह से। अगर मेरी मां न होती तो मैं होता ही नहीं।

how I help my mother at home essay in Hindi

हम अपनी मां की हैल्प विभिन्न प्रकार से कर सकते हैं, चाहे वह घर के काम हों या कोई अन्य काम। मां वैसे तो अपने बच्चों को कोई काम नहीं करने देती है। वह चाहती है कि उसका बच्चा खूब तरक्की करे और उनका नाम रोशन करे। हम अपनी मां की किचन में मदद कर सकते हैं जैसे कि- सब्जी काना, चाय बनाना आदि। हम सुबह उठकर अपने बिस्तर को ठीक से लगाकर भी मां की हैल्प कर सकते हैं। सुबह उठकर मां पूरे घर में झाड़ू लगती है तो यह काम भी हम कर सकते हैं, क्योंकि साफ सफाई किसे पसन्द नहीं होती, बेहतर हो कि हम अपनी साफ सफाई खुद करना सीखें और अपनी मां की मदद करें।

Also read : iPhone XR User Guide Complete Manual

Help Your Mother

जिनके पास मां नहीं होती है उनको भी तो अपने सारे काम खुद करने पड़ते हैं। हम अपने कपड़े खुद धोकर अपनी मां की मदद कर सकते हैं। जब हम छोटे होते हैं तो हमारे कपड़े मां ही धोती है लेकिन जब से आप थोड़ा समझदार हो जायें यानिकि 15-16 साल के, तो हमें अपने कार्य खुद करने चाहिये। इस प्रकार से हम अपनी मां की मदद कर सकते हैं। नीचे दिये गये निम्नलिखित कार्य को करके हम अपनी मां की मदद कर सकते हैं-

  • किचन में सब्जी काटना
  • चाय बनाना
  • दूध गर्म करना
  • अपने कपड़े धोना
  • सुबह अपना बिस्तर फोल्ड करना
  • सुबह उठकर झाड़ू लगाना
  • फ्रिज में पानी की बोतल भरकर रखना
  • कूलर में पानी डालना
  • मोटर चालू करना
  • अनावश्यक जलती हुई लाईटों को बन्द करना
  • टंकी में पानी भरना इत्यादि

ऐसे बहुत से काम होते हैं जिन्हें करने में हमें कोई परेशनी नहीं होनी चाहिये लेकिन ये सभी छोटे-छोटे काम हमारी मां ही करती हैं जिससे कि वह जल्दी थक जाती हैं। यह हमारी जिम्मेदारी है कि हमारे माता पिता सही सलामत रहें क्योंकि जब वह हमारे बारे में सोचते हैं तो हमें भी उनके बारे में सोचना चाहिये और हमें अपने माता पिता की खूब सेवा करनी चाहिये।

My mother essay in Hindi 10 lines

  1. मां वह होती है जो हमें जन्म देती है, बिना मां के हम सब कुछ भी नहीं।
  2. माता अपने बच्चों को कभी भी दुखी नहीं देख सकती है।
  3. मां अपने जीवन में सबसे ज्यादा कष्ट उठाती है।
  4. यदि मैं कुछ परेशान होता हूं तो मां को सबसे पहले पता चल जाता है।
  5. मेरी मां मेरी सफलता और असफलता दोनों में साथ रहती है।
  6. मुझे अपनी मां से कार्य करने की शक्ति, मेहनत, साहस मिलता है।
  7. मां अपने बच्चों से बहुत प्यार करती हैं।
  8. जब भी मैं असफल हुआ तो मुझे मेरी मां ने प्रेरित किया
  9. मां अपने बच्चों की सबसे पहली शिक्षक होती है।
  10. हमें अपनी माता पिता की खूब सेवा करनी चाहिये।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *